Breaking News

श्री ज्योति प्रसाद गैरोला, की अध्यक्षता में सभी विभागाध्यक्षों के साथ राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई।

 श्री ज्योति प्रसाद गैरोला, की अध्यक्षता में सभी विभागाध्यक्षों के साथ राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई।
Spread the love

श्री ज्योति प्रसाद गैरोला, की अध्यक्षता में सभी विभागाध्यक्षों के साथ राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई।

(रैंकिंग के अनुसार जनपद टिहरी प्रथम, देहरादून द्वितीय तथा जनपद बागेश्वर तृतीय स्थान पर है)

उत्तराखण्ड (देहरादून) शनिवार, 24 फरवरी 2024

मा० उपाध्यक्ष (राज्य स्तरीय) बीस सूत्री कार्यक्रम एवं कार्यान्वयन समिति, उत्तराखण्ड श्री ज्योति प्रसाद गैरोला, की अध्यक्षता में सभी विभागाध्यक्षों के साथ राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक/कार्यशाला सम्पन्न हुई। उन्होंने कहा कि कार्यशाला में सिस्टम को डिजीटल मोड पर विकास कार्यक्रम जिला स्तर, ब्लॉक स्तर विकास कार्यों को डेस्क बोर्ड पर देख सकें तथा नए इंडिकेटर कैसे जोड़ा जाए यह विचार-विमर्श किया गया। 

बीस सूत्री में माह दिसम्बर, 2024 की प्रगति की समीक्षा करते हुए मा० उपाध्यक्ष जी द्वारा प्रधानमंत्री आवास नगरीय व प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की सभी जनपदों को न्यून प्रगति अर्थात ‘डी’ श्रेणी होने पर चिन्ता व्यक्त की गई। रैंकिंग के अनुसार जनपद टिहरी प्रथम, देहरादून द्वितीय तथा जनपद बागेश्वर तृतीय स्थान पर है।

माननीय उपाध्यक्ष ने बताया  कि बीस सूत्री कार्यक्रमों को विकासखण्ड स्तर तक अनुश्रवण कर विकासखण्डों को रैंकिंग किए जाने की प्राथमिकता महसूस की गई। कहा कि विकासखण्ड स्तरीय फ्रेमवर्क में ध्वजवाहक सतत् विकास व आकांक्षी विकासखण्डों के Key Performance Indicators  जोड़े गये है। कुल 110 संकेतकों को चिन्हित किया गया है। उन्होंने कहा कि भविष्य में विकास कार्यक्रमों को माइक्रो स्तर पर समीक्षा की आवश्यकता होगी जिसमें न्याय पंचायत एवं ग्राम पंचायत स्तर मॉनिटिरिंग की आवश्यकता पढेगी, इसके लिए डिजीटिलाईजेशन कार्यों से बहुत अधिक सहायता प्राप्त होगी, जिसमें एक ही स्थान से डेस्कबोर्ड पर आनलाईन देखा जाएगा। 

एन०आई०सी० राज्य इकाई के सहयोग से विकसित बीस सूत्री कार्यक्रम के नवनिर्मित वेब एप्लीकेशन का प्रस्तुतीकरण किया गया, जिसमें अब सीधे मासिक प्रगति रिपोर्ट जनपदों के विभिन्न विभागों के नोडल अधिकारी प्रविष्ट करेंगे तथा प्रत्येक संकेतक के डाटा प्रमाणीकरण का कार्य विभागाध्यक्ष स्तर से किया जायेगा। इस हेतु सभी जनपदों के अधिकारियों व राज्य मुख्यालय के लिए पृथक-पृथक आई०डी० व पासवर्ड निर्धारित किए जायेंगे। डैशबोर्ड के माध्यम से जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी बीस सूत्री कार्यक्रम की डाटा एन्ट्री व वेलिडेशन की प्रगति की मानीटरिंग कर पायेंगे।

प्रस्तुतीकरण देते हुए जे०सी० चन्दोला, शोध अधिकारी, बीस सूत्री कार्यक्रम द्वारा अवगत कराया है कि पूर्व माह की प्रगति के आधार पर 33 संकेतकों/योजनाओं की सूचियां भी अब ऑनलाईन फीड की जायेगी, जिसमें जिला, विकासखण्ड व पंचायत स्तर के फिल्टर लगाये गये है, इससे बीस सूत्री कार्यक्रम समिति के गैर सरकारी महानुभाव व टास्क फोर्स अधिकारी सीधे ऐप के माध्यम से योजनाओं की सूची प्राप्त कर स्थलीय सत्यापन कर पायेंगे।

बीस सूत्री माह दिसम्बर, 2024 की प्रगति की समीक्षा करते हुए मा० उपाध्यक्ष जी द्वारा प्रधानमंत्री आवास नगरीय व प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की सभी जनपदों को न्यून प्रगति अर्थात ‘डी’ श्रेणी होने पर चिन्ता व्यक्त की गई। रैंकिंग के अनुसार जनपद टिहरी प्रथम, देहरादून द्वितीय तथा जनपद बागेश्वर तृतीय स्थान पर है।

संयुक्त निदेशक, टी०एस० अन्ना द्वारा अवगत कराया कि बीस सूत्री फ्रेम में 11 योजनाओं को रैंकिंग में शासन के निर्देशानुसार जोड़ा जाना है, जिससे प्राप्त डाटा का उपयोग सतत् विकास लक्ष्यों के सूचकांक बनाये जाने में किया जायेगा।

बैठक में  निदेशक सुशील कुमार, सीपीपीजीजी के विशेषज्ञ शैलेन्द्र सिंह सहित अर्थ एवं संख्या के समस्त संयुक्त निदेशक, उप निदेशक व बीस सूत्री कार्यक्रम के अधिकारी कर्मचारी तथा सभी विभागों के अधिकारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया।

Related post

error: Content is protected !!